Home खेल वान डेर डुसेन और बावुमा के शतक, दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 297 रन का लक्ष्य दिया
खेल - January 20, 2022

वान डेर डुसेन और बावुमा के शतक, दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 297 रन का लक्ष्य दिया

पार्ल (दक्षिण अफ्रीका) , 19 जनवरी (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। रेसी वान डेर डुसेन और कप्तान तेंबा बावुमा के शतक और दोनों के बीच चैथे 204 रन की साझेदारी ने दक्षिण अफ्रीका ने बुधवार को यहां भारत के खिलाफ पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में चार विकेट पर 296 रन बनाए।

धीमी शुरुआत के बाद वान डेर डुसेन (96 गेंद में नाबाद 129) और बावुमा (143 गेंद में 110 रन) ने भारत के खिलाफ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी करके टीम को प्रतिस्पर्धी स्कोर तक पहुंचाया। ये दोनों उस समय साथ आए थे जब टीम 18वें ओवर में 68 रन पर तीन विकेट गंवाने के बाद संकट में थी।

भारत के लिए सबसे सफल गेंदबाज जसप्रीत बुमराह रहे जिन्होंने 48 रन देकर दो विकेट चटकाए। रविचंद्रन अश्विन ने 53 रन देकर एक विकेट चटकाया लेकिन अन्य गेंदबाज सफलता हासिल करने के लिए जूझते नजर आए।

बोलैंड पार्क की धीमी पिच पर दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। बुमराह और भुवनेश्वर कुमार दोनों को शुरुआत में हवा में और पिच से मूवमेंट मिली।

बुमराह ने पांचवें ओवर में आउटस्विंगर पर सलामी बल्लेबाज यानेमन मलान (06) को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया।

भारतीय गेंदबाजों ने रन गति पर अंकुश लगाए रखा जिससे दक्षिण अफ्रीका ने 10 ओवर में एक विकेट पर 39 रन बनाए।

टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने के बाद पहला मैच खेल रहे क्विंटन डिकॉक (41 गेंद में 27 रन) और बावुमा को रन बनाने के लिए जूझना पड़ रहा था क्योंकि गेंद बल्ले पर नहीं आ रही थी।

डिकॉक रन गति में इजाफा करने के प्रयास में पवेलियन लौटे। वह जून 2017 के बाद पहला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेल रहे अश्विन की सीधी गेंद को कट करने की कोशिश में बोल्ड हो गए।

वेंकटेश अय्यर ने सटीक निशाने पर ऐडन मार्कराम (04) को रन आउट करके दक्षिण अफ्रीका को तीसरा झटका दिया।

डुसेन और बावुमा ने इसके बाद पारी को संवारा। दोनों ने स्ट्राइक रोटेट करने को तरजीह दी लेकिन खराब गेंद को सबक सिखाने में कोताही भी नहीं बरती। दोनों ने नियमित अंतराल पर बाउंड्री लगाई।

वान डेर डुसेन ने शुरुआत से ही आक्रामक रवैया अपनाया। उन्होंने युजवेंद्र चहल पर रिवर्स स्वीप से चैका जड़कर खाता खोला और फिर स्वीप से इस लेग स्पिनर पर दो और चैके जड़े।

वान डेर डुसेन ने शारदुल ठाकुर की फ्री हिट पर पारी का पहला छक्का जड़ा। उन्होंने अपनी पारी में कुल नौ चैके और चार छक्के लगाए।

बावुमा ने 45वें ओवर जबकि वान डेर डुसेन ने 48वें ओवर में शतक जड़ा। दोनों ही बल्लेबाजों का यह दूसरा शतक है।

शारदुल के पारी के अंतिम ओवर में 17 रन बने जिससे मेजबान टीम 300 रन के स्कोर के करीब पहुंची। शारदुल सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए। उन्होंने 10 ओवर में 72 रन लुटाए और उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। भारत ने वेंकटेश के रूप में छठे गेंदबाजी विकल्प का इस्तेमाल नहीं किया।

लोकेश राहुल ‘लिस्ट ए’ क्रिकेट में कप्तानी किए बिना 50 ओवर के प्रारूप में भारत की अगुआई करने वाले सिर्फ तीसरे खिलाड़ी बने। इससे पहले विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी और आक्रामक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बंबई उच्च न्यायालय ने डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला खारिज किया

मुंबई, 14 फरवरी (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। बंबई उच्च न्यायालय ने शिकायतकर्ता की सहमति से ए…