Home देश-दुनिया फिलिस्तीनी संगठन हमास में मिले दिल्ली से चोरी हुए बिटकॉइन

फिलिस्तीनी संगठन हमास में मिले दिल्ली से चोरी हुए बिटकॉइन

नई दिल्ली, 24 जनवरी (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। पश्चिम विहार में रहने वाले एक व्यक्ति के बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टो करेंसी को बिना उसकी जानकारी के ट्रांसफर कर दिया गया। ट्रांसफर करते समय इन करेंसी की कीमत करीब 30 लाख रुपये थी और आज के समय में इनकी कीमत लगभग 4.5 करोड़ रुपये है। जांच के दौरान यह पता चला है कि फिलिस्तीन की मिलिट्री विंग हमास के खाते में इस रकम का एक बड़ा हिस्सा गया था। इसके अलावा टेरर फंडिंग करने वाले संगठन एवं इजिप्ट में रहने वाले दो लोगों के खाते में भी यह रकम गई।

डीसीपी केपीएस मल्होत्रा के अनुसार, शिकायतकर्ता की तरफ से पुलिस को यह बताया गया था कि उसके बिटकॉइन एवं क्रिप्टो करेंसी वॉलेट से बिना उसकी जानकारी के करेंसी ट्रांसफर कर दी गई हैं। इसकी कीमत उस समय लगभग 30 लाख रुपये बताई गई थी।

दिल्ली के पश्चिम विहार थाने में कोर्ट के आदेश पर यह एफआईआर दर्ज हुई थी। बाद में इसकी जांच को स्पेशल सेल में ट्रांसफर कर दिया गया। जांच के दौरान साइबर सेल को पता चला कि शिकायतकर्ता की क्रिप्टो करेंसी अलकसम ब्रिगेड के वॉलेट में गई है, जो फिलिस्तीन की संस्था हमास की है। ऐसे ही एक वॉलेट को इजरायल की नेशनल ब्यूरो ऑफ टेरर फंडिंग ने फ्रीज किया है। उस पर टेरर फाइनेंसिंग का आरोप लगता रहा है। यह वॉलेट मोहम्मद नसीर इब्राहिम अब्दुल्ला के नाम पर है।

इसके अलावा अन्य क्रिप्टो करेंसी, जहां ट्रांसफर हुई है, वे इजिप्ट के गीजा में हैं। ऐसा ही एक वॉलेट अहमद मरजुक के नाम पर था। वहीं एक अन्य वॉलेट फिलिस्तीन निवासी अहमद यू एच के नाम पर है। यह क्रिप्टो करेंसी कई वॉलेट से होते हुए यहां तक पहुंची थीं। इससे यह पता चला है कि बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टो करेंसी फर्जी तरीके से वहां पर भेजी गई हैं। इसे लेकर आगे छानबीन की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

चीन का अंतरिक्ष यान चंद्रमा के सुदूर हिस्से से नमूने लेकर पृथ्वी पर लौटा

बीजिंग, 25 जून (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। चीन का चांग’ए 6 अंतरिक्ष यान पहली बार चंद्रमा के…