Home व्यापार भारतीय गेहूं की खेप नहीं लेने के मामले में तुर्की के अधिकारियों के संपर्क में : खाद्य सचिव
व्यापार - June 3, 2022

भारतीय गेहूं की खेप नहीं लेने के मामले में तुर्की के अधिकारियों के संपर्क में : खाद्य सचिव

नई दिल्ली, 02 जून (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। तुर्की द्वारा गुणवत्ता की चिंताओं की वजह से भारतीय गेहूं की खेप को नहीं लेने की खबरों के बीच खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने बृहस्पतिवार को कहा कि सरकार ने इस मसले पर तुर्की के अधिकारियों से विवरण मांगा है। उन्होंने कहा कि संबंधित निर्यातक आईटीसी लिमिटेड ने दावा किया है कि 60,000 टन की निर्यात खेप को सभी जरूरी मंजूरियां प्राप्त थीं।

सचिव ने कहा कि इस बीच भारत द्वारा 13 मई को गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के बाद पांच-छह देशों ने भारतीय गेहूं मंगाने का अनुरोध किया है और सरकार ने ऐसे देशों को अनाज के निर्यात के संबंध में मंजूरी देने के लिए एक समिति बनाई है। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ फैसले हुए हैं।’’ उन्होंने यह भी कहा कि निर्यात प्रतिबंध लगाए जाने के बाद से गेहूं की खुदरा कीमतों में गिरावट का रुख दिख रहा है।

पादप स्वच्छता संबंधी चिंताओं को लेकर तुर्की द्वारा भारतीय गेहूं की खेप को खारिज करने के बारे में पूछे जाने पर पांडेय ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने इस रिपोर्ट की जांच की। यह आईटीसी द्वारा किया गया निर्यात था और यह गुणवत्ता की सभी जरूरतों को पूरा करता है।’’ उन्होंने कहा कि निर्यात खेप में करीब 60,000 टन गेहूं था।

पांडेय ने कहा कि एक प्रमुख गेहूं निर्यातक आईटीसी ने सरकार को सूचित किया है कि उसने जिनेवा स्थित एक कंपनी को गेहूं बेचा था, जिसने आगे गेहूं तुर्की की एक फर्म को बेच दिया। सभी वित्तीय लेनदेन हुए थे। उन्होंने कहा कि भुगतान से पहले सभी स्थानीय मंजूरी हो जानी चाहिए। भारत में भी कीटमुक्त रखने के प्रयास हुए थे। कंपनी ने हमें यही बताया है। तुर्की आयातक सहित… उनका वित्तीय लेनदेन… पूरा हो गया था।’’

सचिव ने आगे कहा कि कृषि विभाग और कृषि-निर्यात संवर्धन निकाय एपीडा इस मुद्दे पर तुर्की के ‘क्वारन्टाइन’ (अनाज को कीटमुक्त रखने की प्रक्रिया) अधिकारियों के संपर्क में है। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने उनसे कुछ नहीं सुना है। अभी तक कोई औपचारिक संवाद नहीं हुआ है।’’ घरेलू उत्पादन में मामूली अनुमानित गिरावट के बीच स्थानीय कीमतों को नियंत्रण में रखने के लिए भारत ने 13 मई को गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, इसने उन खेपों के निर्यात की अनुमति दी है, जो प्रतिबंध लागू होने से पहले पंजीकृत थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

सिख धर्म सिखाता है कि एक परिवार के रूप में मनुष्य एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं: अमेरिकी नेता

वाशिंगटन, 11 अप्रैल (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। न्यूयॉर्क के एक प्रभावशाली नेता ने वैसाखी स…