Home स्वास्थ्य हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करते हैं यह योगासन
स्वास्थ्य - June 21, 2021

हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करते हैं यह योगासन

-: ऐजेंसी अशोक एक्सप्रेस :-

हड्डियां जीवित ऊतक होती हैं जो लगातार टूटती और बनती रहती हैं। जिसके कारण हड्डियों का घनत्व प्रभावित होता है। जिसकी वजह से संतुलन में दिक्कत आना शुरु हो जाती है और ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा बढ़ जाता है। उम्र के साथ हड्डियां कमजोर होती जाती हैं। जिसे कुछ योगासन की मदद से मजबूत किया जा सकता है। योग कई बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है और कई महत्वपूर्ण शारीरिक प्रक्रियाओं को बढ़ावा देता है और उत्तेजित करता है। योग मन को शांत करने में भी मदद करता है।

1-त्रिकोणासनः यह आसन आसानी से किया जा सकता है और इसके कई फायदे भी होते हैं। यह आसन रीढ़ की हड्डी में लचीलापन बढ़ाने और जठरांत्र को भी राहत दिलाने में मदद करता है। त्रिकोणासन पूरे शरीर को स्ट्रैच करने के साथ निचले शरीर और हड्डियों को मजबूत करने में मदद करता है।

2-सलाभासनः इसे ग्रैस्हापर और लोक्सट पोज भी कहते हैं। यह आसन पैर और पीठ के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है। इस आसन को करने के लिए अपने पैर और ऊपरी धड़ उठाकर शुरू करें। इसे 10 सेकेंड के लिए दबाएं और इसे तीन बार दोहराएं। यह मुद्रा कमर दर्द को दूर करने में मदद करती है।

3- वृक्षासनः यह आसन हड्डियों की मजबूती के लिए फायदेमंद होता है। यह बहुत ही लोकप्रिय आसन है। इस आसन को 1 मिनट तक करने से हड्डियों को मजबूत करने में मदद करते हैं। साथ ही स्ट्रैचिंग करने से आपका दिमाग शांत होता है।

4-उत्थित पार्श्वकोणासनः इस आसन में आपके एक तरफ से स्ट्रैच करके हड्डियों को मजबूत करने में मदद मिलती है। आप यह आसन हाथ को फर्श पर रखकर या घुटने पर रखकर कर सकती हैं। यह हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

5- सेतु बांधा सर्वंगसासनः ऑस्टियोपोरोसिस के मरीजों के इलाज के लिए डॉक्टर इस आसन को करने की सलाह देते हैं। साथ ही यह आसन पीठ, छाती और गर्दन को स्ट्रैच करने में मदद करता है। इसके अच्छे परिणाम के लिए इसी मुद्रा में कम से कम 1 मिनट तक रहें।

6-परिवर्त त्रिकोणासनः यह एक और आसन है जो हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह ट्विस्टिड पोज हड्डी के उत्पादन को प्रोत्साहित करता है और फ्रैक्चर से बचने में सहायता करता है। स्ट्रैचिंग करने से हड्डियां मजबूत होती हैं।

7- अर्ध चंद्रासनः यह आसन पैरों, पेट और रीढ़ की हड्डी को शेप में लाने में मदद करता है। साथ ही ऑस्टियोपोरोटिक के दर्द को कम करने में मदद करता है। सामान्य मुद्रा में बदलाव लाने के लिए आप ब्लॉक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

2 अक्टूबर, राष्टपिता महात्मा गांधी की जंयती पर पुष्प अर्पित किये

नई दिल्ली। (इन्द्रजीत सिंह), इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्व…