Home खेल अफगानिस्तान में फंसा क्रिकेटर राशिद खान का परिवार, केविन पीटरसन ने कही ये बात
खेल - August 16, 2021

अफगानिस्तान में फंसा क्रिकेटर राशिद खान का परिवार, केविन पीटरसन ने कही ये बात

नई दिल्ली, 16 अगस्त (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का कहना है कि अफगानिस्तान में इस समय जिस तरह की तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है उसको लेकर स्पिनर राशिद खान बेहद चिंतित हैं। पीटरसन ने कहा कि वर्तमान में राशिद अपनी फैमिली को देश से बाहर निकालने में सक्षम नहीं हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस समय काबुल के हामिद करजई इंटरनैशनल एयरपोर्ट से समूचे विश्व में फ्लाइट ऑपरेशंस प्रभावित है। राशिद इस समय यूके में हैं जहां वह द हंड्रेड लीग में ट्रेंट रॉकेट्स की ओर से खेल रहे हैं।

कुछ दिन पहले राशिद ने अफगानिस्तान में बढ़ती तालिबान की क्रूरता को देखते हुए ट्विटर के माध्यम से दुनिया के बड़े नेताओं से अफगानी लोगों को बचाने की अपील की थी। दुनिया के मिस्ट्री स्पिनर्स में शामिल राशिद खान ने ट्वीट किया था, ‘दुनियाभर के प्रिय नेताओं! मेरा देश संकट में है। प्रतिदिन महिलाओं और बच्चों समेत हजारों लोग मारे जा रहे हैं। घरों और संपत्तियों को बर्बाद किया जा रहा है। लोग अपना घर छोड़कर जाने के लिए मजबूर किए जा रहे हैं। इन मुश्किल हालातों में हमें अकेला मत छोड़िए। अफगानिस्तान और यहां के लोगों को बर्बाद होने से बचा लें। हम शांति चाहते हैं।’

2001 से ही तालिबान अमेरिका समर्थित अफगान सरकार से जंग लड़ रहा है। अफगानिस्तान में तालिबान का उदय भी अमेरिका के प्रभाव से कारण ही हुआ था। अब वही तालिबान अमेरिका के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द बना हुआ है।

1980 के दशक में जब सोवियत संघ ने अफगानिस्तान में फौज उतारी थी, तब अमेरिका ने ही स्थानीय मुजाहिदीनों को हथियार और ट्रेनिंग देकर जंग के लिए उकसाया था। नतीजन, सोवियत संघ तो हार मानकर चला गया लेकिन अफगानिस्तान में एक कट्टरपंथी आतंकी संगठन तालिबान का जन्म हो गया।

तालिबान ने अफगान सरकार के आखिरी किले काबुल पर भी जीत हासिल कर ली है। इसी के साथ तालिबान ने 20 साल बाद काबुल में फिर से अपनी हुकूमत कायम कर ली है। 2001 में अमेरिकी हमले के कारण तालिबान को काबुल छोड़कर भागना पड़ा था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

ईरान ने भारतीय कंपनियों को गैस क्षेत्र में 30 प्रतिशत हिस्सेदारी की पेशकश की

नई दिल्ली, 25 सितंबर (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। ईरान ने ओएनजीसी विदेश लि. (ओवीएल) और उसके …