Home अंतरराष्ट्रीय नए समझौते के तहत हथियारबंद लोगों ने सीरिया के डारा को छोड़ना शुरू किया

नए समझौते के तहत हथियारबंद लोगों ने सीरिया के डारा को छोड़ना शुरू किया

दमिश्क, 27 अगस्त (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। सीरिया के दक्षिणी प्रांत डारा से स्थानीय हथियारबंद लोगों के एक जत्थे को रूस की मध्यस्थता से हुए एक समझौते के तहत देश के उत्तरी हिस्से में विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों में पहुंचाया गया, ताकि महीनों से चल रहे तनाव को कम किया जा सके। इसकी रिपोर्ट स्थानीय मीडिया ने दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने रिपोर्ट के हवाले से कहा कि कुल 45 हथियारबंद लोग और उनके परिवार के कुछ सदस्य गुरुवार को उत्तरी सीरिया के लिए बसों से रवाना हुए, जब उन्होंने डारा में सीरियाई अधिकारियों के साथ सुलह करने से इनकार कर दिया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि निकासी डारा में सुरक्षा बहाल करने के सौदे का हिस्सा है।

इस बीच, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि गुरुवार को जिन सशस्त्र लोगों को निकाला गया, वे दूसरे जत्थे से थे।

इसमें कहा गया है कि सीरियाई अधिकारी चाहते हैं कि 100 हथियारबंद लोग उत्तरी सीरिया में विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्रों के लिए डारा छोड़ दें।

24 अगस्त को, डारा में हथियारबंद लोगों को निकालने की तैयारी के लिए 48 घंटे का संघर्ष विराम लागू हुआ।

रूसी सैन्य पुलिस ने निकासी की तैयारी के लिए डारा अल-बलाद इलाके में पड़ोस में प्रवेश किया।

इस वापसी के बाद, सीरियाई सरकार के संस्थान क्षेत्र से भागे हजारों लोगों की वापसी की सुविधा के प्रयासों के बीच डारा लौट आएंगे।

मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (ओसीएचए) ने हाल ही में डारा के अल-बलाद क्षेत्र और प्रांत के आसपास के क्षेत्रों में आंतरिक रूप से विस्थापित लोगों की संख्या 38,600 रखी है, जिसमें लगभग 15,000 महिलाएं और 20,400 से अधिक बच्चे शामिल हैं।

सीरियाई सेना ने 2018 में डारा में प्रवेश किया था, जब विद्रोहियों को इदलिब के उत्तर-पश्चिमी प्रांत में विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्रों में विस्थापित कर दिया गया था।

हालांकि, डारा में तनाव जारी है और कभी-कभार हमले हो रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

ब्रिटेन की नयी प्रधानमंत्री ने संरा में अपने पहले संबोधन में पुतिन की आलोचना की

संयुक्त राष्ट्र, 22 सितंबर (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने …