Home अंतरराष्ट्रीय द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान लापता हुए पायलट के अवशेषों को दफनाया गया

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान लापता हुए पायलट के अवशेषों को दफनाया गया

मिलिनकेट (अमेरिका), 11 अक्टूबर (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान यूरोप के एड्रियाटिक सागर में लापता हुए एक पायलट के अवशेष बरामद होने के बाद उन्हें दफना दिया गया है। घटना के करीब 70 साल से अधिक समय बाद 2017 में एक अभियान के दौरान पायलट के अवशेष बरामद किए गए थे।

‘यूएस आर्मी एयर फोर्सेस सेकंड लेफ्टिनेंट’ अर्नेस्ट एन विएन्यू को श्रद्धांजलि देने के लिए देश भर से उनके रिश्तेदार मिलिनकेट में एकत्र हुए। घटना के वक्त विएन्यू 25 साल के थे और वह उस विमान के सह पायलट थे जो दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। अब के स्लोवेनिया से होकर गुजरते समय छह नवंबर, 1944 को विमान में आग लग गयी थी।

‘मेन पब्लिक रेडियो’ की खबर के अनुसार विएन्यू को मिलिनकेट में टूर्स सिमेट्री के सेंट मार्टिन में उनके माता पिता के बगल में दफनाया गया। विएन्यू की कब्र के पास उनके उन ‘विंग्स’ को भी दफनाया गया जिसे उन्होंने अपने निधन से पहले जीता था।

विएन्यू की भांजी जोएसे टॉटेन ने रेडियो स्टेशन को बताया कि उसने अपनी दिवंगत मां को वादा किया था कि अगर विएन्यू के अवशेष कभी बरामद होते हैं तो वह ये सुनिश्चित करेंगी उनके ‘विंग्स’ को भी उनके साथ दफनाया जाए।

हमले में विएन्यू गंभीर रूप से घायल हो गये थे। हमले में दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान से विएन्यू का शव बरामद नहीं हो सका। हालांकि विमान का मलबा और संभावित अवशेष 2017 में एक अभियान में बरामद किये गये थे और प्राप्त अवशेष 2020 में विश्लेषण के लिए प्रस्तुत किए गए थे। चिकित्सकीय रिकॉर्ड और अन्य सबूतों से यह पुष्टि हुई कि ये अवशेष विएन्यू के ही थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

सरकार ने सोने पर 15 फीसदी आयात शुल्क लगाया

नई दिल्ली, 01 जुलाई (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। सोने के बढ़ते आयात और चालू खाता घाटा (सीएडी) …