Home लेख राजनीतिक दल अपनी स्वार्थ सिद्धि के लिए भारत की छवि धुमिल कर रही है
लेख - January 10, 2022

राजनीतिक दल अपनी स्वार्थ सिद्धि के लिए भारत की छवि धुमिल कर रही है

-विनोद तकिया वाला-

-: ऐजेंसी अशोक एक्सप्रेस :-
खबरी लाल

इन दिनो विश्व के पटल पर भारत की राजनीति की दिशा ‘ दशा विषय पर चिन्तन व चर्चा चारो तरफ हो रही है।जग जाहिर हो गया है कि विश्व के सबसे बड़े। लोकतंत्र में आजकल सब ठीक ठाक नही चल रहा है।मेरी चिन्ता भी एक भारत के एक राष्ट्र के प्रति सच्चा प्रेमी व सजग नागरिक होने के नाते मेरा चिन्तित व विचलित होना स्वाभाविक है। श्याद प्रत्येक भारतीय नागरिकों व राष्ट्रभक्तों को होना चाहिए। भारतीय संविधान अपने नागरिकों को मौलिक अधिकार देते हुए उन्हे कर्तव्य पालन करने के उत्तरदायित्व निर्वाह हेतु प्रेरित करता है।इसमेें जीवन रक्षा का अधिकार,देश में जाने आने की स्वतंत्रता भी प्राप्त है।आप चैकिए मत मैआप को भारतीय संविधान द्वारा प्रदत मौलिक अधिकारों व कर्तव्यों के वारे बताने नही जा रहा हूँ,ब्लकि विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्र भारत के प्रधान मंत्री जीवन रक्षा पर उनके द्वारा उठाये गये प्रशन पर कुछ प्रकाश डालने की कोशिश कर का प्रयास कर रहा हूँ।जैसा कि आप को सभी को पता है कि विगत 5 जनवरी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब यात्रा के दौरान सुरक्षा में चूक हो गयी थी।गलती किसकी थी यह जांच का विषय है।राज्य व केन्द्र सरकार के द्वारा विशेष जांच समिति बनाई गयी!कुछ कार्यवाही भी हुई।यहाँ तक ठीक है लेकिन इन मुद्दों को लेकर सता पक्ष -विपथ के बीच वाक युद्ध, खबरिया चैनलो पर घंटो तक बैकिग्र न्यूज चर्चा,चल रही है, लगता है कि यह कोई चुक नही व्लकि कोई विदेशी ताकतों के द्वारा रचित साजिश के द्वारा किया गया षडयंत्र हो।हालाकि देश में सरकार व राजनीतिक दलो के पास मुद्दो पर आधारित राजनीति व राष्ट्र सेवा करने का आकाल हो गया तभी उनके हाथ यह मुद्धा हाथ लग गया है।चुनाव आयोग ने पाँच राज्यो उत्तर प्रदेश पंजाब ‘ उत्तराखण्ड . गोवा व मणिपुर चुनाव की तारिखो की घोषणा हो चुकी है।केन्द्र की सतारूढ सरकार आगामी राज्यो होने वाले विधान सभा के प्रधान मंत्री सुरक्षा हुई चुक को जनता के समक्ष भावनात्मक रूप से उठाकर जनता जनार्दन के समक्ष बोट बटोरने की कोशिस कर रहा है। ताकि जनता मुल समस्याओं से ध्यान हटाने मे कायम हो जाय ‘ इसने भाजपा के भीष्म पितामह के रूप में राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ यानि आर एस एस की कुशल कुशाग्र बुद्धि कार्य कर रही है। पहले राममंदिर ‘ मुथुरा मुद्दा , धर्म संसद के भड़ाक ऊ भाषण ‘ हिन्दू धर्म खतरे में’अब प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के रक्षा को लेकर एक विशेष समुदाय के लोगो के विरुद्ध तस्वीरे पेश की जा रही है।
इसका मुख्य केद्र दिल्ली दरवार में अहंम भूमिका निभाने वाला राज्य उत्तर प्रदेश जहा सात चरणो मे मतदान होने वाला है। हिन्दी भाषी राज्य ‘खास कर पश्चिमी उत्तर प्रदेश जिनकी किसान आन्दोलन में अहम भूमिका रही थी व पंजाब जहाँ भाजपा स्वंय कैप्टन अमरिंदर के सहारे अपना भविष्य अजमा रही थी।वहाँ पर यह भावनात्मक कार्ड खेल कर रही है ताकि मतदाता पार्टी को समर्थन दे और पुनः सत्ता की सिंघासन पर कब्जा कर सकें पीएम की सुरक्षा में चूक का मामला अब सियासी हो चुका है. बीजेपी-कांग्रेस एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. इस बीच मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गया है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर केंद्र और राज्य सरकार दोनों की कमेटी की जांच पर सोमवार तक रोक लगी हुई है।सोमवार को सुप्रीम कोर्ट निर्णय लेगा कि इस मामले में आगे क्या कार्रवाई होगी या किस तरह की जांच होगी.
ऐसे में कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक यूपी में चुनाव का मुद्दा बन सकती है. इस सवाल का जवाब जानने के लिए एबीपी सी वोटर की टीम लोगों के बीच पहुंची।55 फीसदी लोगों ने इस सवाल के जवाब में कहा है कि हां प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक यूपी चुनाव में मुद्दा बन सकता है।वहीं 35 फीसदी जनता ने कहा नहीं ऐसा नहीं होगा. वहीं 10 फीसदी जनता ने कहा कि उन्हें इस सवाल का जवाब नहीं पता है।
हालाकि इस तरह की घटना देश – विदेशों मे कई बार देखी जा चुकी है। जहाँ तक भारतीय प्रधान मंत्री की सुरक्षा का प्रशन है – आपको मै संज्ञान मे लाना चाहुंगा सर्व प्रथम श्री मति इन्दिरा गाँधी के सुरक्षा मे चुक हुई कई सलाह कार द्वारा उनके सुरक्षा में तैनात सिख सुरक्षा कर्मी पर हटाने का सुझाव आया था तो स्वंय श्री मति गाँधी ने इस प्रस्ताव पर मान ने से इन्कार करते हुए कही थी हम अपने लोगों पर अविश्वास नही कर सकते है। मुझे याद आ रही है तत्कालीन प्रधान मंत्री डा0 मनमोहन सिंह अप्रैल 2009 में अहमदाबाद के संस्कार केन्द्र में आयोजित एक समारोह हेमन्त चैहान नामक एक कथा कथित कार्यक्रता द्वारा एक जुता फेका गया था ‘ जो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् का सदस्य था। राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र दामोदर दास मोदी थे। उसी दिन अहमदाबाद की घटना है भारी प्रधानमंत्री कतार में लाल कृष्ण आडवाणी जी एक साघु महंत धर्म दास जुता फेका गया था। तब प्रधान मंत्री की ओर राज्य के मुख्यमंत्री पर किसी तरह का आरोप नही लगाया गया था । 4 नवम्बर 2009 को डा मनमोहन सिंह चण्डीगढ़ के एयर पोर्ट पर उत्तरने के कुछ क्षण पहले हो एक चैपाया जानवर दिखाई पड़ा ‘ यात्रा का मार्ग परिवर्तन कर दिया ना कि यात्रा ही रद्ध कर दिया।25 दिसम्बर 2010 को डा मनमोहन सिंह केरल के दौरे पे थे तब कोटा नेल्लूर हेली पैड से प्रधान मंत्री जी काफिला त्रिशुर की ओर जा रहा था करुणा करण जी को श्रद्धाजंली अर्पित की जानी थी इस यात्रा के दौरान प्रधान मंत्री के काफिला में नंदा तारा जंक्शन पर एक नीजी कार काफिले मे घुस गया था ‘ राज्य मे कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार थी।तत्कालीन प्रधान मंत्री द्वारा राज्य सरकार या मुख्य मंत्री पर कोई आरोप नही लगाया है। ब्लकि सुरक्षा से सम्बन्धित विभाग की जाँच में कोई हस्तक्षेप नही किया गया था।
विगत दिनो प्रधान मंत्री की सुरक्षा व्यवस्था में चुक से प्रत्येक नागरिक को अफसोस हुई है।यह चिन्ता व चिन्तन का गंभीर विषय है।जिसे सम्बन्धित अधिकारियो व विभागीय अधिकारियों को सर्तक रहना चाहिए । जाँच समिति की रिपोर्ट आने पर दोषियो को सजा मिलनी चाहिए। राजनीतिक दल विशेष कर भाजपा की केन्द्र व राज्यों सासित सरकार अपनी नीजी स्वार्थ व वोट की राजनीति जो कि इन दिनों ओछी राजनीति कर रही है वे नही होनी चाहिए । क्योंकि इसका दुरगामी प्रभाव विश्व की राजनीति के साथ भारत तीसरी महाशक्ति के उभरते शक्ति के रूप दावे को कमजोर व घुमिल कर रहा है। इस प्रकरण से
वैश्विक राजनीति पर गलत संदेश जाएगा।जब देश का प्रधान मंत्री ही स्वयं असुरक्षित महसूस कर रहा है ‘ विदेश के राजनीतिज्ञ प्रतिनिधि व अन्य सम्बध कैसे सुरक्षित व मजबूत होगा !
यह सभी राजनीतिक दलो व उनके नेताओ को इस गंभीर विषय पर दलगत राजनीति से उपर उठ कर देश हित मे सोचना चाहिएं ताकिभारत एक दिन सम्पूर्ण विश्व का मार्ग दर्शक वन विश्व गुरु की पहचान बना सकें !
फिलहाल आप से यह कहते हुए विदा लेते है।
ना ही काहूँ से दोस्ती , ना ही काहूँ से बैर । खबरी लाल तो माँगे ‘ सबकी खैर ॥

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

ब्रिटेन की नयी प्रधानमंत्री ने संरा में अपने पहले संबोधन में पुतिन की आलोचना की

संयुक्त राष्ट्र, 22 सितंबर (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने …