Home खेल लक्ष्य सेन की निगाहें इंडिया ओपन में पहले खिताब पर
खेल - January 10, 2022

लक्ष्य सेन की निगाहें इंडिया ओपन में पहले खिताब पर

नयी दिल्ली, 09 जनवरी (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता लक्ष्य सेन ने कहा कि वह अपनी शानदार फॉर्म के दम पर मंगलवार से यहां शुरू होने वाले इंडिया ओपन सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट का खिताब जीतने की कोशिश करेंगे जिसमें वह पहली बार हिस्सा ले रहे हैं।

अल्मोड़ा के रहने वाले इस 20 वर्षीय खिलाड़ी ने पिछले सत्र में अच्छा प्रदर्शन किया था। वह डच ओपन के फाइनल में पहुंचे थे। उन्होंने हाइलो ओपन के सेमीफाइनल में जगह बनायी और विश्व टूर फाइनल में पदार्पण करते हुए नॉकआउट चरण में प्रवेश किया था।

विश्व चैंपियनशिप में तो वह कांस्य पदक जीतकर दिग्गज प्रकाश पादुकोण और बी साई प्रणीत की बराबरी करने में सफल रहे।

सेन ने पीटीआई से कहा, ‘‘यह पहला अवसर है जबकि मैं इंडिया ओपन में खेलूंगा क्योंकि महामारी के कारण पिछले दो वर्षों में इसे रद्द करना पड़ा था। इसलिए मैं इस मौके का पूरा फायदा उठाकर खिताब जीतना चाहता हूं। ‘‘

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने विश्व चैंपियनशिप के बाद 10 दिन विश्राम किया और पहली जनवरी से अभ्यास शुरू कर दिया। मैं हल्की चोटों से परेशान था लेकिन अब मैंने पूर्ण फिटनेस हासिल कर ली है।’’

सेन ने उन दिनों को याद किया जब वह एक प्रशंसक के तौर पर इंडिया ओपन टूर्नामेंट में लिन डैन और तौफीक हिदायत जैसे खिलाड़ियों को देखने के लिये आये थे।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे याद है कि जब मैं 2011-12 में 10 वर्ष का था तब मैं इंडिया ओपन देखने के लिये आया था। मैं लिन डैन और तौफीक हिदायत से काफी प्रेरित हुआ था। मुझे तौफीक का खेल पसंद था। उसका मुझ पर काफी प्रभाव पड़ा।

सेन पहले दौर में मिस्र के अदहाम हातेम इल्गामल से भिड़ेंगे और इस मैच में जीत के बाद उनका सामना अगले दौर में स्वीडन फेलिक्स बुरेस्टेट से होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे अच्छा ड्रा मिला है। पहले दौर में मुझे मिस्र के खिलाड़ी से भिड़ना है और अगले दौर में मेरे सामने फेलिक्स होगा। मैंने दुबई में उसके साथ अभ्यास किया था। ‘‘

सेन ने कहा, ‘‘मैं एक बार में एक मैच पर ध्यान दूंगा तथा जिस तरह से मैं खेल रहा हूं उसे देखते हुए मुझे टूर्नामेंट जीतने का विश्वास है।’’

इस साल कार्यक्रम काफी व्यस्त रहेगा। बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर प्रतियोगिताओं के अलावा इस वर्ष राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों का भी आयोजन होना है।

सेन ने कहा कि उनका पूरा ध्यान चोटमुक्त रहना और सही समय पर चरम पर पहुंचने पर है।

विश्व में 17वें नंबर के खिलाड़ी ने कहा, ‘‘मुझे इन महत्वपूर्ण प्रतियोगिताओं से पहले उचित योजना तैयार करनी होगी और कुछ विशेष प्रतियोगिताओं का भी चयन करना होगा। मैं चोटमुक्त रहने और सही समय पर चरम पर पहुंचने पर ध्यान दूंगा।’’

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

ब्रिटेन की नयी प्रधानमंत्री ने संरा में अपने पहले संबोधन में पुतिन की आलोचना की

संयुक्त राष्ट्र, 22 सितंबर (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने …