Home देश-दुनिया राज्यपाल का अभिभाषण किसानो नौजवानो को गुमराह करने के लिये : अखिलेश यादव

राज्यपाल का अभिभाषण किसानो नौजवानो को गुमराह करने के लिये : अखिलेश यादव

लखनऊ, 23 मई (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रतिपक्ष के नेता अखिलेश यादव ने कहा है कि सोमवार को राज्य विधानमंडल के समक्ष राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने जो अभिभाषण पढ़ा, उसमें न तो कुछ नयापन है और नहीं उसमें प्रदेश के विकास की कोई सुनियोजित मंशा ही दिखाई देती है। सरकार कुछ कहे पर जनता को सब सच्चाई मालूम है कि भाजपा सरकार ने पिछले पांच साल नाम और पत्थर बदलने में लगा दिए। जबकि आज भी वह जनहित की ठोस योजनाओं की प्रस्तुति से वंचित है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जारी अपने बयान में कहा कि नामों में कुछ हेरफेर के साथ राज्य सरकार ने जो योजनाएं पेश की हैं, वे सामान्यतया वही है जिनका प्रारम्भ समाजवादी सरकार में हुआ था। चिकित्सा और शिक्षा के क्षेत्र में नया कुछ करने के बजाय समाजवादी सरकार के कामों को ही गिना दिया गया। एक भी यूनिट बिजली का उत्पादन न करने वाली भाजपा सरकार में लोग बिजली कटौती के चलते अंधेरे और भीषण तपीश में जीने को मजबूर हैं।

उन्होंने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण ने किसानों, नौजवानों को गुमराह ही किया है। किसान की फसल औने-पौने दाम पर बिक रही है। एमएसपी की अनिवार्यता पर एक भी शब्द नहीं है। किसान की आय दोगुनी करने का वादा थोथा ही दिख रहा है। गन्ना किसानों के भुगतान की बड़ी राशि बकाया है। गेहूं खरीद का लक्ष्य पूरा नहीं हुआ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा राज में निवेश के नाम पर कुछ भी नहीं हुआ। समाजवादी सरकार ने तो आईटी हब बनाकर दिखा दिया। भाजपा कोई नया मॉडल भी नहीं बना सकी। नौजवानों को रोजगार के लिए कोई योजना नहीं है। भाजपा सरकार ने सिर्फ पेपर लीक और भर्ती घोटालों की सौगाते दी हैं। बेरोजगार नौजवानों की न्याय की मांग पर उन्हें सिर्फ लाठियों से पीटा गया। एक भी सैनिक स्कूल नहीं खोला गया।

उन्होंने कहा कि अजीब बात है कि मुख्यमंत्री योगी और भाजपा सरकार द्वारा प्रदेश में अपराधों में गिरावट के जो दावे किये जा रहे हैं, उनकी पोल राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़ों से खुल गई है। भाजपा सरकार में दुष्कर्म और महिला अपराध की घटनाएं आए दिन बढ़ रही हैं। रोज ही लोगों की पुलिस हिरासत में मौतें हो रही हैं। भाजपा सरकार और प्रशासन तंत्र केवल अपने हितों के लिए ही निर्दोषों का उत्पीड़न कर रही हैं। उन्हें जनता की सुरक्षा से कोई वास्ता नहीं है। उत्तर प्रदेश की लापरवाह भाजपा सरकार अव्यवस्था और महिला अपराध में केवल नम्बर वन बन गयी है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सच तो ये है कि भाजपा सरकार की योजनाओं में भी आरएसएस के एजेंडा की झलक दिखाई देती है। एक खास समुदाय के प्रति उपेक्षा का भाव इसमें जाहिर है। गरीब, किसान, युवा, शिक्षक और व्यापारी वर्ग को सहूलियत तो मिली नहीं, उनकी तकलीफों को और बढ़ा दिया गया है। राज्यपाल ने भाजपा सरकार के थोथे दावों की पुस्तिका को ही पढ़कर अपने कार्यवृत्त की इति कर ली। इस किताब में कुछ भी सत्य नहीं है। जनता को भाजपा सरकार से गहरी निराशा ही हाथ लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

कच्चा तेल 84 डॉलर प्रति बैरल के करीब, पेट्रोल-डीजल की कीमत स्थिर

नई दिल्ली, 15 मई (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों मे…