Home अंतरराष्ट्रीय चीन ने हांगकांग के निवासियों को पनाह देने की अमेरिका की पेशकश की आलोचना की

चीन ने हांगकांग के निवासियों को पनाह देने की अमेरिका की पेशकश की आलोचना की

बीजिंग, 06 अगस्त (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। चीन के विदेश मंत्रालय ने हांगकांग से लोगों को अस्थायी शरण देने की अमेरिका की पेशकश को शुक्रवार को अर्द्ध-स्वायत्त शहर और चीन की केंद्रीय सरकार को ‘‘बदनाम करने की व्यर्थ कोशिश’’ बताया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने हांगकांग को नियंत्रित करने और लोकतंत्र समर्थक विपक्ष को कुचलने से संबंधित चीन के बढ़ते कदम के जवाब में यह पेशकश की, जिसके कुछ ही देर बाद हांगकांग में चीन के विदेश मंत्रालय के कार्यालय की ओर से बयान जारी किया गया।

बाइडन ने हांगकांग के लोगों को वर्तमान में अमेरिका में रहने और 18 महीने के लिए देश में काम करने की अनुमति देने संबंधी एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है। बाइडन का यह कदम हांगकांग के लिए नए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून और अन्य कदमों की प्रतिक्रिया में आया है, जो पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश को 1997 में चीन को सौंपने के वक्त दिए गए अधिकारों को कम करते हैं। यह ऐसे वक्त हुआ है जब चीन और अमेरिका के बीच विदेश नीति एवं व्यापार के मुद्दे पर टकराव हैं।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि बाइडन के इस कदम ने ‘‘हांगकांग के राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की निंदा की और उसे बदनाम किया, हांगकांग के मामलों और चीन के आंतरिक मामलों में अनधिकृत रूप से हस्तक्षेप किया और अंतरराष्ट्रीय कानून एवं अंतरराष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी मानदंडों का साफ तौर उल्लंघन किया। मंत्रालय ने कहा, ‘‘अमेरिका झूठ का जाल बुन रहा है और हांगकांग के राष्ट्रीय सुरक्षा कानूनों की निंदा कर रहा है। वह तथाकथित पनाहगाह की पेशकश कर हांगकांग में चीन विरोधी अराजकता को स्पष्ट रूप से महिमामंडित कर रहा है। मंत्रालय ने कहा, ‘‘यह हांगकांग, चीन को बदनाम करने का एक व्यर्थ प्रयास है। इन कार्रवाइयों के माध्यम से हांगकांग को कम आंकने का प्रयास नहीं करें।”

व्हाइट हाउस में प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा, ‘‘राजनीतिक रूप से प्रेरित गिरफ्तारियों, मुकदमों, मीडिया की आवाज को दबाने और चुनावों तथा लोकतांत्रिक विरोध के लिए घटते स्थान के मद्देनजर हम हांगकांग में लोगों के समर्थन में कदम उठाना जारी रखेंगे।’’ चीन ने 2019 में लोकतंत्र समर्थकों के महीनों सड़क पर उतरकर विरोध जताने के जवाब में हांगकांग पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया है। पुलिस ने कम से कम 100 विपक्षी नेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं और प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

पुलिस की मिलीभगत से सुल्तानपुरी बना नशे में उड़ता पंजाब

क्षेत्रा में प्रतिदिन 50 करोड़ की स्मैक व नशीले इंजेक्शन की खुलेआम ध्ड़ल्ले से ब्रिकी पर प्र…