Home व्यापार जीएमआर के हैदराबाद हवाईअड्डे पर यूडीएफ में भारी वृद्धि के प्रस्ताव का विरोध
व्यापार - August 16, 2021

जीएमआर के हैदराबाद हवाईअड्डे पर यूडीएफ में भारी वृद्धि के प्रस्ताव का विरोध

हैदराबाद, 16 अगस्त (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस (एफआईए) ने जीएमआर समूह द्वारा हवाईअड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकरण (एईआरए) के समक्ष यहां के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर प्रयोगकर्ता विकास शुल्क (यूडीएफ) सहित वैमानिकी शुल्क में बढ़ोतरी के प्रस्ताव का विरोध किया है।

एईआरए ने पिछले महीने जीएमआर हैदराबाद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लि. (जीएचआईएएल) के तीसरी नियंत्रण अवधि (अप्रैल, 2021 से मार्च, 2026) के दौरान शुल्कों में संशोधन के प्रस्ताव पर परिचर्चा पत्र जारी किया था। इस पर अंशधारकों से टिप्पणियां मांगी गई थीं। जीएचआईएएल इस हवाईअड्डे का प्रबंधन करती है।

जीएमआर ने एक अक्टूबर से यूडीएफ को 281 रुपये से बढ़ाकर 608 रुपये करने का प्रस्ताव किया है। इससे हवाईअड्डे से जाने वाले घरेलू उड़ानों के यात्रियों के लिए यूडीएफ में 116 प्रतिशत की भारी वृद्धि होगी। इसी तरह अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के यात्रियों के लिए यूडीएफ को मौजूदा के 393 रुपये से 231 प्रतिशत बढ़ाकर 1,300 रुपये करने का प्रस्ताव किया गया है।

जीएचआईएएल ने तीसरी नियंत्रण की अवधि के दौरान 2025-26 तक धीरे-धीरे कर घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए यूडीएफ को बढ़ाकर क्रमशः 728 रुपये और 2,200 रुपये करने का प्रस्ताव किया है।

इस बारे में एफआईए ने एईआरए से आग्रह किया है कि वह तीसरी नियंत्रण की अवधि के दौरान शुल्क में किसी तरह की वृद्धि को लागू नहीं करे। एफआईए ने कहा है कि एयरलाइंस पर कोविड-19 के प्रतिकूल वित्तीय प्रभाव की वजह से फिलहाल इस वृद्धि को टाला जाए। एफआईए के सदस्यों में इंडिगो, स्पाइसजेट ओर गोएयर शामिल हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

इजराइल के धुर-दक्षिणपंथी मंत्री ने यरूशलम के संवेदनशील धार्मिक स्थल का दौरा किया

यरूशलम, 18 जुलाई (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। इजराइल के धुर दक्षिणपंथी राष्ट्रीय सुरक्षा मंत…