Home देश-दुनिया जयशंकर ने किया मेक्सिको और भारत के बीच आर्थिक सहयोग बढ़ाने का आग्रह

जयशंकर ने किया मेक्सिको और भारत के बीच आर्थिक सहयोग बढ़ाने का आग्रह

मेक्सिको सिटी/नई दिल्ली, 29 सितंबर (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने मेक्सिको और भारत के बीच आर्थिक सहयोग बढ़ाने का आग्रह करते हुए मेक्सिको के कारोबारियों को भारत में निवेश करने के लिए कहा है। श्री जयशंकर ने मेक्सिको सिटी में दोनों देशों के कारोबारियों के साथ एक बैठक के बाद ट्वीट कर कहा कि मेक्सिको के व्यापार प्रतिनिधियों और मेक्सिको में काम कर रही भारतीय कंपनियों के साथ सार्थक बातचीत की। उन्होंने दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग बढ़ाने का आग्रह करते हुए कहा कि इससे दोनों देशों के बीच विशेषाधिकार प्राप्त साझीदारी भी आगे बढ़ेगी। विदेश मंत्री ने बैठक के दौरान आईसीटी और फार्मा क्षेत्र सहित मेक्सिको में काम कर रही भारतीय कंपनियों के सामने आने वाले कुछ मुद्दों को भी हल किया। श्री जयशंकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश के मुताबिक मेक्सिको को कारोबारियों को भारत में निवेश के लिए आकर्षित किया गया है और भारतीय व्यापारियों को निर्यात बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया है। इस बीच, उन्होंने मेक्सिको सिटी से 50 किमी उत्तर पूर्व में स्थित प्राचीन मेसोअमेरिकन शहर तियोतिहुआकान का दौरा किया। यह शहर यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों में शामिल है। उन्होंने कहा, “एक और प्राचीन सभ्यता की विरासत का सम्मान कर रहा हूं। तेओतिहुआकान में सूर्य और चंद्रमा के पिरामिड में हूं।” श्री जयशंकर मेक्सिको की स्वतंत्रता की 200वीं वर्षगांठ के समारोह में भारत का प्रतिनिधित्व करने गये हैं। इस वर्ष, मेक्सिको 1821 में स्पेन से आजादी मिलने की 200वीं वर्षगांठ मना रहा है। विदेश मंत्री की यात्रा 26-28 सितंबर तक है। वह मेक्सिको के विदेश मंत्री मार्सेलो एब्रार्ड कैसाबोन के निमंत्रण पर यहां आये हैं। विदेश मंत्री के रूप में यह उनकी पहली मेक्सिको यात्रा है। विश्व के अन्य देशों के नेता भी स्वतंत्रता दिवस समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे हैं। गौरतलब है कि भारत और मेक्सिको ने 2007 में अपने द्विपक्षीय संबंधों को विशेषाधिकार प्राप्त साझीदारी में तब्दील किया था। अगस्त 2020 में दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मनायी गयी थी। मेक्सिको 1950 में भारत के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने वाला लैटिन अमेरिका का पहला देश था। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की टीसीएस, इंफोसिस, विप्रो, हेक्सावेयर, टेक महिंद्रा, एनआईआईटी आदि जैसी कई भारतीय कंपनियों ने पहले से ही मेक्सिको में सफलता का परचम फहराया हुआ है। साथ ही सन फार्मा, डॉ. रेड्डीज, रैनबैक्सी, वॉकहार्ट आदि जैसी बड़ी फार्मा कंपनियों और ऑटो कंपोनेंट निर्माताओं जैसे पीएमपी ऑटो, जेके टायर ने भी मेक्सिको में सुविधाएं और संयंत्र स्थापित कर रखे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने ईपीए की शक्तियां सीमित की

वाशिंगटन, 01 जुलाई (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसले …