Home अंतरराष्ट्रीय तीसरे विश्वयुद्ध के लिए उकसा रहा अमेरिका: रूस

तीसरे विश्वयुद्ध के लिए उकसा रहा अमेरिका: रूस

कीव, 26 अप्रैल (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। यूक्रेन युद्ध में अमेरिका द्वारा दी जा रही हथियारों की मदद को लेकर रूस ने कहा कि अमेरिका तीसरा विश्वयुद्ध भड़काने के लिए उकसा रहा है। नाटो पर्दे के पीछे से यूक्रेन की मदद कर रहा है, जिसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं।

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने मंगलवार को कहा कि पश्चिमी देश चाहते हैं कि यूक्रेन युद्ध लंबे समय तक चलता रहे, जिससे रूसी की सैन्य क्षमता कमजोर हो जाए। लेकिन यह पश्चिमी देशों का भ्रम है कि वो रूसी सैन्य उद्योग को समाप्त कर देंगे। उन्होंने कहा कि पश्चिमी देश यूक्रेन को जो हथियार उपलब्ध करा रहे हैं, वो हमारे निशाने पर हैं। रूसी बलों ने पहले ही पश्चिमी यूक्रेन में हथियारों के भंडारगृह को निशाना बनाया है।

लावरोव ने कहा कि नाटो इस युद्ध में अप्रत्यक्ष रूप से कूद पड़ा है और वो पर्दे के पीछे से यू्क्रेन को हथियार उपलब्ध करा रहा है। नाटो, रूस को उकसाने का काम कर रहा है। आग में घी डाल रहा है और उसकी ये गलती तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत कर सकती है। रूस ने नाटो को चेतावनी दी कि वो यूक्रेन को हथियार देना बंद करे, वरना नाटो को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। लावरोव ने कहा कि यूक्रेन परमाणु हमले के खतरे को कम करके न आंके। खतरा गंभीर है और वास्तविक है। लावरोव ने कहा कि हम जब तक अपने लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर लेंगे, तब तक यूक्रेन पर हमले करते रहेंगे।

डर गया है रूस: कुलेबा

रूस के तीसरे विश्व युद्ध की धमकी पर यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि रूस उन देशों को धमकी दे रहा है जो युद्ध में यूक्रेन की मदद कर रहे हैं। ये देश रूस की गीदड़ भभकियों डरे नहीं, इसलिए रूस अब तीसरे विश्व युद्ध की धमकी देकर उन्हें डराना चाहता है। इससे साफ है कि रूस को इस बात का आभास हो गया कि यूक्रेन में उसकी हार तय है।

क्रेमिन्ना पर रूस का कब्जा : ब्रिटेन

लीव। ब्रिटेन ने दावा किया कि यूक्रेन के केमिन्ना शहर पर रूस का कब्जा हो गया है। ब्रिटेन ने कहा कि यूक्रेन के ईज्यूम के दक्षिण में भीषण लड़ाई चल रही है। रूसी सेना उत्तर और पूर्व से स्लोवियनस्क और क्रामातोरस्क शहरों की ओर बढ़ने की कोशिश कर रही है। क्रेमिन्ना, यूक्रेन की राजधानी कीव से 575 किलोमीटर दूर दक्षिण-पूर्व में स्थित है। ब्रिटेन, युद्ध की शुरुआत से ही रोजाना सार्वजनिक रूप से खुफिया रिपोर्ट जारी कर रहा है। हालांकि यूक्रेन ने कब्जे की पुष्टि नहीं की है।

रूसी गोलीबारी में चार मरे

दोनेत्सक और लुहान्सक में रूसी सेना ने यूक्रेनी नागरिकों को निशाना बनाया। इस गोलीबारी में सोमवार देर शाम चार नागरिकों की मौत हो गई और नौ लोग घायल हैं। गवर्नर पावलो किरिलेंको ने मंगलवार को जानकारी देते हुए बताया कि मरने वालों में दो बच्चे भी शामिल हैं।

24 घंटे में 17 बार गोलीबारी

लुहान्सक के गवर्नर सेरही हैदई ने कहा कि पिछले 24 घंटे में रूसी सेना ने नागरिकों पर 17 बार गोलीबारी की है। रूसी गोलाबारी से पोपसना, लिसिचांस्क और गिर्सक सबसे अधिक प्रभावित हैं। हैदई ने कहा कि पोपसना ने चार शक्तिशाली हमलों का सामना किया और लिसिचांस्क पर दो बड़े हमले किए गए हैं। जेपोरिजिया के स्थानीय अधिकारियों ने रॉकेट हमले की भी सूचना दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

प्रतिबंधों से निपटने के लिए उत्तर कोरिया के साथ मिलकर काम करेंगे : पुतिन

सियोल, 18 जून (ऐजेंसी/अशोका एक्स्प्रेस)। उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में शिखर सम्मे…