Home हरियाणा-न्यूज़ घर बैठे लें चिकित्सकों से परामर्श: उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार

घर बैठे लें चिकित्सकों से परामर्श: उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार

रोहतक, 30 अगस्त (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने जिला वासियों से सरकार की ई-संजीवनी ओपीडी सुविधा का लाभ उठाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के उद्देश्य से सरकार ने दोबारा से ई-संजीवनी ओपीडी आरंभ कर दी है। इस ओपीडी के माध्यम से मरीज घर बैठे ही मोबाइल ऐप के माध्यम से संबंधित चिकित्सक से अपने रोग से संबंधित परामर्श ले सकता है।
कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि नेशनल हेल्थ मिशन हरियाणा के निदेशक द्वारा ई-संजीवनी के बारे पत्र जारी किया जा चुका है। खास बात यह है कि अब भी संजीवनी ओपीडी पूरे सप्ताह 24 घंटे लोगों के लिए उपलब्ध रहेगी। इस ओपीडी के माध्यम से टैली कंसल्टेशन लिया जा सकता है। इसके लिए बाकायदा जिला वाइज वोटर भी जारी कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि ई-संजीवनी के लिए सुबह, शाम व रात्रि 3 शिफ्ट निर्धारित की गई है। इन तीनों शिफ्टों के लिए 5 चिकित्सकों की ड्यूटी रहेगी, 2 चिकित्सक सुबह तथा दो शाम के सत्र में उपलब्ध रहेंगे, जबकि एक चिकित्सक की ड्यूटी रात्रि की शिफ्ट में रहेगी। कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि इस ओपीडी को शुरू करने का उद्देश्य अस्पतालों में मरीजों की संख्या को कम करना है। अस्पताल में मरीज तभी आए जब जरूरी हो अन्यथा ई-संजीवनी की ओपीडी के माध्यम से अपना उपचार कराएं।

ई-संजीवनी ओपीडी के नोडल अधिकारी एवं उप सिविल सर्जन डॉ दिनेश मलिक ने बताया कि पहली शिफ्ट प्रातः 8 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक रहेगी। दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 बजे से लेकर रात्रि 8 बजे तक रहेगी और रात्रि शिफ्ट रात 8 बजे से लेकर प्रातः 8 बजे तक रहेगी। उन्होंने यह भी बताया कि गायनी की ओपीडी प्रातः 8 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक तथा दोपहर 2 बजे से लेकर रात 8 बजे तक रहेगी। डॉ दिनेश मलिक ने बताया कि जिला वाइज जारी किए गए रोस्टर के अनुसार रोहतक की बारी 3 सितंबर को आएगी और इसके लिए 23 चिकित्सकों को रजिस्टर्ड किया गया है। इस प्रकार कोई भी मरीज किसी भी दिन टेली मेडिसन की सुविधा प्राप्त कर सकता है।

क्या है ई-संजीवनी ओपीडी:
ई-संजीवनी ओपीडी भारत सरकार का प्रमुख टेली मेडिसिन प्लेटफॉर्म है, जिसे भारत सरकार के तत्वावधान में विकसित किया गया है और यह बहुत अच्छी तरह से काम कर रहा है। यह प्लेटफॉर्म किसी भी भारतीय नागरिक को मुफ्त परामर्श प्रदान करता है।
कैसे लोग उठा रहे हैं फायदा:
ई-संजीवनी से दो तरह से टेली-मेडिसिन कंसल्टेंसी का लाभ आम लोग उठा सकते हैं। एक कंसल्टेंसी डॉक्टर की दूसरे डॉक्टर के साथ। इसके लिए आपको संजीवनी ऐप को अपने मोबाइल पर इंस्टाल करना होगा। इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा। ऐप में तीन ऑप्शन दिखते हैं। पहला मरीज का रजिस्ट्रेशन व टोकन दूसरा मरीज का लॉग इन और तीसरा प्रिस्क्रप्शिन। इस तरह आप डॉक्टर से जुडकर टेली परामर्श ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

सुल्तानपुरी में बच्चों का अपहरण व खुलेआम बेचे जा रहे नशीले पदार्थ के खिलापफ विरोध् प्रदर्शन

(वरिष्ठ/क्राईम संवाददाता) नई दिल्ली। सुल्तानपुरी, समाज सेवी संस्था हिन्दू युवा समाज एकता आ…