Home मनोरंजन ‘नैशनल डॉक्टर्स डे’ पर सोनू सूद से सोनाक्षी तक, ऐक्टर्स ने ‘असली सुपरहीरोज’ को किया सलाम
मनोरंजन - July 1, 2021

‘नैशनल डॉक्टर्स डे’ पर सोनू सूद से सोनाक्षी तक, ऐक्टर्स ने ‘असली सुपरहीरोज’ को किया सलाम

मुंबई, 01 जुलाई (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। हर साल की तरह इस साल भी 1 जुलाई को ‘नैशनल डॉक्टर्स डे’ मनाया जा रहा है। डॉक्टर्स को हमेशा से भगवान का दूसरा रूप समझा जाता है। लेकिन पिछले डेढ़ सालों से कोरोनावायरस महामारी में देश- दुनिया के सभी डॉक्टरों ने जिस तरीके से काम किया है, वह देखकर इन डॉक्टरों को सुपरहीरोज कहना गलता नहीं होगा। ‘नैशनल डॉक्टर्स डे’ पर बॉलीवुड ऐक्टर्स सोनू सूद, सोनाक्षी सिन्हा, दिव्या दत्ता, शिल्पा शेट्टी, रवीना टंडन ने इन फ्रंटलाइन वारियर्स को खास अंदाज में सलाम भेजा है।

सोनाक्षी सिन्हा ने डॉक्टर्स को बताया असली हीरो

‘डॉक्टर्स डे’ पर सोनाक्षी सिन्हा ने कहा, ‘हमारे डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर्स ने कोविड-19 के दौरान अपनी जान को जोखिम में डालकर जिस तरीके से लोगों की मदद की है और जान बचाई उसके लिए इनका जितना भी शुक्रिया अदा किया जाए कम है। यह हैं असली हीरो। मैं उन सभी डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर्स को सलाम करती हूं।’

डॉक्टरों के नाम शिल्पा शेट्टी का खास मेसेज

‘डॉक्टर्स डे’ पर शिल्पा शेट्टी कहती हैं,’केवल आज ही नहीं, बल्कि हमें हर दिन सभी डॉक्टरों और हेल्थ वर्कर्स के निस्वार्थ सेवा की भावना को प्रोत्साहित करना चाहिए। क्योंकि जिस तरीके से पिछले डेढ़ सालों में इन डॉक्टरों और हेल्थ वर्कर्स ने लगातार काम किया है। उसे हम शब्दों में बयां नहीं कर सकते। बिना किसी शर्त के अपनी जान को जोखिम में डालकर लोगों की जान बचाने के लिए मैं इन व्हाइट कोट वॉरियर्स को सलाम करती हूं। जो लगातार निस्वार्थ भाव के साथ लोगों को अपनी सेवा दे रहे हैं।’

दिव्या दत्ता ने डाक्टर्स डे पर दिया ये मेसेज

‘डॉक्टर्स डे’ पर दिव्या दत्ता ने मेसेज शेयर करते हुए कहा,’ इन डॉक्टरों ने पिछले डेढ़ सालों में जिस तरीके से काम किया है और लोगों की जान बचाई है उनके लिए सिर्फ एक धन्यवाद शब्द बहुत छोटा है। ये सोचकर भी रूह कांप जाता है कि अगर ये डॉक्टर्स नहीं होते तो हमारा क्या होता। 24/7 घंटे लगातार पीपीई किट पहनकर रहना, लोगों की जान बचाना, उनकी देखभाल करना। उनके लिए सिर्फ एक दिन या थैंक्यू शब्द काफी नहीं है। मैं हमेशा से डॉक्टरों का बहुत सम्मान करती हूं, क्योंकि मैं भी एक डॉक्टर फैमिली से आती हूं। इसलिए मुझे पता है कि उन्हें अपनी जॉब के दौरान किन- किन मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।’

‘डॉक्टर्स नहीं ये सुपरहीरोज हैं’

‘डॉक्टर्स डे’ पर रवीना टंडन कहती हैं,’इस महामारी के दौरान डॉक्टर्स ने जिस तरीके से काम किया है, वह सिर्फ एक असली सुपरहीरोज ही कर सकते हैं। निस्वार्थ सेवा देने के लिए मैं इन डॉक्टरों को सलाम करती हूं और दिल से धन्यवाद देती हूं।’

देश की आर्मी की तरह इन डॉक्टरों ने काम किया है

सोनू सूद कहते हैं, ‘डॉक्टर्स ही असली हीरोज हैं। कोरोनावायरस की पहली और फिर दूसरी लहर में इन डॉक्टरों ने यह साबित कर दिया कि वह देश की आर्मी से कम नहीं है। अपनी जान पर खेलकर हजारों लोगों की जान बचाना आसान काम नहीं है।’

डॉक्टरों के लिए यह काफी मुश्किल भरा समय था

श्रुति हासन कहती हैं,’देश- दुनिया के सभी डॉक्टरों को बहुत-बहुत धन्यवाद। कोराना महामारी के दौरान इन डॉक्टरों के लिए काम करना कितना मुश्किल समय होगा शायद ही लोग समझ सकते हैं। इस दौरान काम करना आसान नहीं होगा। मुझे सोचकर ही अजीब लगता है कि इन मुश्किल भरे दिनों में ये डॉक्टर्स किस तरह से काम करते होंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

मुनाफावसूली के दबाव में शेयर बाजार में कमजोरी का रुख

नई दिल्ली, 18 अगस्त (ऐजेंसी/अशोक एक्सप्रेस)। पिछले कुछ दिनों से लगातार जारी तेजी के बाद आज…